Friday, May 08, 2015

A space traveler's song





....... 

इस पल आयें हैं, फिर कब जायेंगे?
कहने-सुनने आयें थे; समझ के जायेंगे,


मेरा ना कोई है पता इस जगह पर,
यूं तो है मेरा ये जहां...
लाया क्या मैंने? कम मेरा है यहाँ पर,
शायद हो पेहले से बसता-बसा सब यहाँ,

....... 

तारें भी कैसे टिम-टिमाते रातों में,
कोई ना तन्हा है वहाँ...
चले ही जाते हैं ये दिल को लुभाके,
इन्ही के जाते ही आये सवेरा यहाँ...



Credits : Sifar , Lucky Ali  - सिफर , लकी अली 

0 Comments:

Post a Comment

Links to this post:

Create a Link

<< Home